कैसे बनाए टेक्सटाइल डिजाइनिंग में कैरियर

टेक्सटाइल डिजाइनिंग रचनात्मक सोच के साथ कुछ नया करने की इच्छा रखने वाले युवों के लिए कैरियर का एक बेहतर विकल्प हो सकता है। साथ ही एक उद्योग के रूप में भी टेक्सटाइल उद्योग बड़ी तेजी के साथ उन्नति के शिखरों पर जा रहा है। भारत में टेक्सटाइल उद्योग पूरी तरह से टेक्सटाइल मैनुफैक्चरिंग एवं एक्सपोर्ट (निर्यात) पर आधारित है, जिसके चलते यह देश की अर्थव्यवस्था में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दे रहा है। उद्योग में दिनों दिन होती उन्नति के कारण इस क्षेत्र में पेशेवरों की मांग में इजाफा होना भी लाजमी है और टेक्सटाइल डिजाइन इन क्षेत्र से जुड़ा एक महत्वपूर्ण पेशा है।

अत्याधुनिक तकनीक के इस युग में ऐसे साफ्टवेयर उपलब्ध हो गए हैं जिनके माध्यम से टेक्सटाइल डिजाइनिंग को नए आयाम मिले हैं। टेक्सटाइल डिजाइनरों को ज्यादातर एम्ब्रॉयडरी डिजाइन, प्रिंट, वेव एवं टेक्सचर पर ही काम करना पड़ता है। 

कौन-से कोर्स करें
इससे संबंधित कोर्स को करने के इच्छुक व्यक्ति के लिए शैक्षिक योग्यता कम से कम बारहवी होना आवश्यक है। स्नातक स्तर के पाठयक्रमों में प्रवेश बारहवी के बाद तथा परास्नातक स्तर के पाठयक्रमों में प्रवेश स्नातक के बाद मिलता है। कई शैक्षिक संस्थान ऐसे डिप्लोमा एवं एडवांस डिप्लोमा पाठयक्रम का भी संचालन करते हैं, जिन्हें स्नातक के बाद किया जा सकता है। 
कई संस्थान टेक्सटाइल डिजाइनिंग से संबंधित स्नातक एवं परास्नातक पाठयक्रमों में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा भी लेते है। कुछ एक ऐसे भी संस्थान हैं, जो अपने यहां मेरिट अथवा इंटरव्यू के हिसाब से प्रवेश देते हैं। 
टेक्सटाइल डिजाइनिंग के क्षेत्र में डिप्लोमा, पोस्ट ग्रेजुएट एवं सर्टिफिकेट कोर्स किए जा सकते हैं। अधिकांतर डिप्लोमा कोर्स चार साल तक की अवधि के लिए होते हैं, जबकि इस क्षेत्र में सबसे कम समय का कोर्स पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम ही है।
इससे संबंधित प्रमुख कोर्स इस प्रकार हैंः
डिप्लोमा इन टेक्सटाइल एंड फैशन डिजाइन (दो वर्ष)
मास्टर इन टेक्सटाइल डिजाइनिंग (दो वर्ष)
बैचलर ऑफ साइंस इन फैशन एंड अपैरल डिजाइनिंग (तीन वर्षीय)
बीएससी इन टेक्सटाइल डिजाइन (तीन वर्ष)
डिप्लोमा इन फैशन एंड टेक्सटाइल डिजाइन (चार वर्षीय)
कई शिक्षण संस्थानों द्वारा वार्षिक या अर्द्धवार्षिक सर्टिफिकेट कार्यक्रमों का भी संचालन किया जा रहा है। 

कहां से करें कोर्स
टेक्सटाइल डिजाइनिंग से संबंधित कोर्स नेशनल इंस्टिटयूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (निफ्ट), इंटरनेशनल इंस्ट्टियूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली, पर्ल एकेडमी ऑफ फैशन, नई दिल्ली, एपीजे इंस्टिटयूट ऑफ डिजाइन, नई दिल्ली, नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद, इंटरनेशनल पॉलीटेक्निक फॉर वुमन, नई दिल्ली, डिजाइन एंड इनोवेशन एकेडमी (दिया), नोएडा, इंटरनेशनल इंस्टीटयूट ऑफ फैशन डिजाइन, चंडीगढ़, आर्क एकेडमी ऑफ फैशन आर्ट डिजाइन, जयपुर, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी, बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, पिलानी, मनीपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रांची, अन्नामलाई विश्वविद्यालय, अन्नामलाई,  श्री वैष्णव पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट, इंदौर आदि संस्थानों से किए जा सकते हैं।

कितना कमा सकते हैं
टेक्सटाइल डिजाइनिंग के क्षेत्र में नौकरी की काफी संभावना है। इस क्षेत्र में डिजाइनर रंग विशेषज्ञ के रूप में कार्य किया जा सकता है। डिजाइन स्टूडियो, कपड़ा मिल तथा एक्सपोर्ट हाउस आदि में जॉब के अवसर मिल सकते हैं। इसके अलावा डिजाइनर सरकारी तथा निजी फर्म में बतौर फ्रीलांसर कार्य कर सकता है। करियर के प्रारंभ में ही 15 से 30 हजार रुपए मासिक अर्जित किए जा सकते है। अनुभव बढ़ने के साथ-साथ कमाई में भी इजाफा हो सकता है।

No comments:

Post a comment

स्वयं पोर्टल से घर बैठें करें निःशुल्क कोर्सेज

इंटरनेट के इस दौर में पारंपरिक शिक्षा अर्थात स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से हायर एजुकेशनल डिग्रीज हासिल करने के अलावा भी विद्यार्थी विभिन्...