ज्वेलरी डिजाइनिंग (Jewellery designing) में बनाएं चमकदार करियर

वर्तमान में लोगों के बीच ज्वेलरी के प्रति बढ़ते क्रेच युवाओं के कारण युवाओं के लिए ज्वेलरी डिाइनिंग कैरियर का बेहतर विकल्प हो सकता है। इसके साथ विश्व में सोने की सबसे अधिक भारत होती इसके कारण यहां जेम्स एंड ज्वैलरी के लिए बेहतर सुविधाएं भी उपस्थित हैं। जयपुर विश्व का सबसे बड़ा जेम्स कटिंग सेंटर के रूप में जाना जाता है।  इसके अतिरिक्त सूरत, मुंबई, दिल्ली, अहमदाबाद आदि शहरों में जेम्स एंड ज्वेलरी के विशाल एक्सपोर्ट हाउसेज मौजूद हैं। इन सब कारणों के चलते युवाओं के लिए ज्वेलरी डिजाइनिंग में बेहतर संभावनाएं हैं।

आइए सबसे पहले यह जानते हैं कि ज्वेलरी डिजाइनिंग क्या है। विभिन्न प्रकार के आभूषणों को बनाने की कला को ही ज्वेलरी डिजाइन कहते हैं. सोना चांदी, पर्ल, प्लेटिनम, इत्यादि धातुओं को तराशकर उनसे
तरह-तरह के गहने बनाए जाते हैं. इसी तरह सीप, हाथी दांत, पत्थर, आदि का भी प्रयोग ज्वेलरी बनाने में किया जाता है। ज्वेलरी डिजाइनर वह व्यक्ति होता है, जो ज्वेलरी की स्टाइल, पैटर्न आदि सेट करते हैं।  

शैक्षणिक योग्यता
ज्वेलरी डिजाइन में करियर बनाने की इच्छुक व्यक्ति का 12वीं पास होना आवश्यक है। वैसे दसवीं पास व्यक्ति भी ज्वेलरी डिजाइन से संबंधित शाॅर्ट टर्म कोर्स किए जा सकते हैं।
बनाने के लिए 12वीं पास होना बहुत जरूरी है. इसके बाद आप आगे के कोर्स कर सकते हैं. दसवीं पास वालों के लिए भी ज्वेलरी डिजाइन में बेहतरीन करियर विकल्प है. दसवीं के बाद आप शॉर्ट टर्म कोर्सेस कर सकते हैं. आगे के कोर्स के लिए इच्छुक व्यक्ति को ऐप्टीट्यूड टेस्ट देना पड़ता है. इसके बाद ही आप आगे के कोर्स के लिए आवेदन भर सकते हैं।

कौन-से कोर्स करें
विभिन्न सरकारी एवं निजी संस्थानों द्वारा ज्वेलरी डिजाइन से संबंधित कोर्स किए जा सकते हैं। आइए पहले बात करते हैं सार्टिफिकेट कोर्सस की तो इससे संबंधित सार्टीफिकेट कोर्सेस में बेसिक ज्वेलरी डिजाइन, कैड फॉर जेम्स एंड ज्वेलरी, डायमंड आइडेंटीफिकेशन एंड ग्रेडिंग कलर्ड जेमस्टोन आइडेंटिफिकेशन कोर्स शामिल हैं। 
आइए अब बात करते हैं डिग्री कोर्सेस कि तो इससे संबंधित डिग्री कोर्सेसे में बीएससी इन ज्वेलरी डिजाइन, बैचलर ऑफ एक्सेसरीज डिजाइन, बैचलर ऑफ ज्वेलरी डिजाइन मास्टर्स डिप्लोमा इन ज्वेलरी डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी इत्सादि शामिल हैं।
इससे संबंधित कुछ प्रमुख डिप्लोमा कोर्सेस हैं-डिप्लोमा इन ज्वेलरी डिजाइन एंड जैमोलॉजी, ज्वेलरी मैनुफैक्चरिंग, एडवांस ज्वेलरी डिजाइन विद कैड।

तकनीकी जानकारी
ज्वेलरी डिजाइन कोर्स के दौरान ज्वेल कैड, ऑटो कैड, 3 डी स्टूडियो आदि कम्प्यूटर एडेड ज्वेलरी सॉफ्टवेयर के बारे में टेक्निकल नॉलेज भी दी जाती है। इसके अतिरिक्त फोटोशॉप, कोरल ड्रॉ, वेट एंड मेटल कम्पोजिशन का प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

कहां से करें कोर्स
जैसाकि ऊपर भी बताया जा चुका है कि ज्वेलरी डिजाइन से संबंधित कोर्स विभिन्न संस्थानों द्वारा कराए जाते हैं। जिनमें से प्रमुख हैं-जैमोलॉजी इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, मुंबई, सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई, जैम एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल, जयपुर, इंडियन जैमोलॉजी इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली. ज्वेलरी डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट, नोएडा, एसएनडीटी यूनिवर्सिटी, मुंबई इत्यादि।

रोजगार के अवसर
इस क्षेत्र में संभावनाओं की कमी नहीं है। इससे संबंधित कोर्स करने के बाद ज्वेलरी डिजाइन की किसी संस्थान ज्वैलरी को बनाने से लेकर फिनिशिंग तक का काम कर सकते है। इसके साथ ही ज्वैलरी डिजाइनर, एग्जीबिशन मैनेजर, प्रोडेक्शन मैनेजर, काॅस्टिंग मैनेजर, राइटर व ड्राफ्टर, प्लाॅनिंग एंड काॅन्सेप्ट मैनेजर, जैम ग्राइंडर, जैम पाॅलिसर और सेल्स एसोसिएट इत्यादि पदों पर कार्य किया जा सकता है।
यदि आप आर्थिक रूप से मजबूत हैं तो इस क्षेत्र में कुछ अनुभव अर्जित करने के बाद अपना व्यवसाय भी शुरू किया जा सकता है। 

कितना कमा सकते हैं
कोर्स करने के तुरंत बाद शुरुआत में 7 से 8 हजार रुपया प्रतिमाह तक कमाया जा सकता है। अनुभव बढ़ने के साथ इस क्षेत्र में अच्छी कमाई की आशा की जा सकती है। अनुभव बढ़ने के साथ इसमें लाखों रुपये की कमाई की जा सकती है।

ब्लॉग पसंद आये तो शेयर करें ।


इस ब्लाॅक की सफलता से प्रभावित होकर इस ब्लाॅग इस ब्लाॅग के चुनिंदा लेखकों को संग्रहित करके ‘सफल बनने की कला’ नामक पुस्तक की रचना की गयी है। पुस्तक में ब्लॉग में दिए गए मोटिवेशनल लेखों को शामिल किया गया है।   पुस्तक का मूल्य 120 रु निर्धारित किया गया है। सफल बनने की कला का उन सभी व्यक्तियों के लिए किया गया है, जो हर हालत में सफल होना चाहते है। पुस्तक ब्लाॅक के पाठकों को 30 प्रतिशत छूट के साथ उपलब्ध है।


पुस्तक खरीदने के इच्छुक पाठक कमेंट बाॅक्स में कमेंट करें। या ईमेल दिए गए पर सम्पर्क करें।
rk_k_computers@yahoo.com
rakeshcomputers@gmail.com


No comments:

Post a comment

स्वयं पोर्टल से घर बैठें करें निःशुल्क कोर्सेज

इंटरनेट के इस दौर में पारंपरिक शिक्षा अर्थात स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से हायर एजुकेशनल डिग्रीज हासिल करने के अलावा भी विद्यार्थी विभिन्...