बनाए समाज सेवा (Social Work) में बेहतर कैरियर

गैर सरकारी संगठन या एनजीओ ऐसे संस्थान होते हैं जो किसी विशेष मिशन के तहत चलाए जाते है। विभिन्न प्रकार की सामाजिक समस्याओं को हल करना और विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी विकास गतिविधियों को बढ़ावा देना गैर सरकारी संगठनों का कार्य होता है। पहले समाज सेवा में ऐसे लोग जुड़ते थे तो स्वयं के संसाधनों या दान के माध्यम से इस कार्य को किया करते थे। परंतु वर्तमान में स्थिति बदल चुकी है वर्तमान में एनजीओ समाज सेवा के साथ-साथ रोजगार का बेहतर विकल्प भी बन चुके हैं। इस पोस्ट में हम इसी विषय की चर्चा करेंगे की आप किस प्रकार से इस क्षेत्र में कैरियर बना सकते हैं।

कौन से कोर्स करें
समाज कल्याण में मास्टर डिग्री (एमएसडब्ल्यू), समाजविज्ञान या ग्रामीण प्रबंध में कोई भी मास्टर डिग्री एनजीओ क्षेत्र में कैरियर बनाने की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। समाज कल्याण में बीए, एमए या बीएसडब्ल्यू भी किए जा सकते हैं। इस क्षेत्र में एमफिल या पीएचडी भी कर सकते हैं।, जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय आदि डिप्लोमा और डिग्री के कई पाठयक्रम संचालित कर रहे हैं। जो छात्र एनजीओ क्षेत्र में जाना चाहते हैं, उन्हें चाहिए कि बारहवीं के बाद समाजविज्ञान विषय क्षेत्र से कोई एक विषय चुन कर चुन सकते हैं।

कहां से करें कोर्स
गौतम बुद्धा यूनिवर्सिटी, इंदिरा गाँधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, जामिया मिलिया इस्लामिया,  यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली, भारतीय समाज कल्याण एवं व्यवसाय प्रबंधन संस्थान (कोलकाता), टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (मुंबई), दिल्ली विश्वविद्यालय, राजस्थान विश्वविद्यालय, एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ एनजीओ मैनेजमेंट, नोएडा, उत्तर प्रदेश, मदुरै कामराज विश्वविद्यालय, मदुरै, तमिलनाडु, अन्नामलाई विश्वविद्यालय, अन्नामलाई नगर, तमिलनाडु, लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ, उत्तर प्रदेश, सेंटर ऑफ सोशल इनीशिएटिव एंड मैनेजमेंट, हैदराबाद, भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान, गांधीनगर, गुजरात, जेवियर इंस्टीटयूट ऑफ सोशल साइंसेज, रांची, उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय और भी बहुत सारी प्राइवेट और गवर्नमेंट यूनिवर्सिटीज है, जहां समाज सेवा से संबंधित कोर्स किए जा सकते है। 

रोजगार के अवसर कहां हैं
एनजीओ से संबंधित कोर्सों को करने के बाद आॅपरेशनल और एडवोकेसी दोनों तरह के एनजीओं में कार्य किया जा सकता है। ऐसे लोग जिनमें वित्त प्रबंधन, मीडिया प्रबंधन इत्यादि से संबंधित योग्यता है वह आॅपरेशन एनजीओं में कार्य कर सकते हैं और जो लोक सामाजिक कार्य के लिए लोगों को प्रेरित कर सकते हैं, इसे क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते हैं।
एनजीओं से संबंधित कोर्सों को करने के बाद मिनिस्ट्री ऑफ यूथ अफेयर, फिक्की, एसओएस विलेज, एफएआरएम, अमर ज्योति चैरिटेबल ट्रस्ट, प्रयास जैसे प्लेटफार्म पर कार्य का अवसर मिल सकता हे। वर्तमान में एड्स अवेयरनेस प्रोजेक्ट, ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यक्रम, चाइल्ड एब्यूज प्रिवेंशन कमेटी स्ट्रीट चिल्ड्रन एजुकेशन, ड्रग रिहेलिलिटेशन सेंटर इत्यादि में कार्य का अवसर मिल सकता है।  

कितना वेतन मिल सकता है
वर्तमान में आपकी योग्यता के अनुसार 10-15 हजार से लेकर एक लाख से ऊपर तक का वेतन एनजीओ क्षेत्र में मिल सकता है। इसके अलावा शोध कार्य तथा पुस्तक लेखन इत्यादि के माध्यम से भी आय अर्जित की जा सकती हैं।  

कहां से ढूंढे नौकरी 
समाज सेवा से संबंधित नौकरियों, नौकरी डाॅट काॅम, इनडीड डाॅट काम, साइन डाॅट और देवनेटजाॅबइंडिया डाॅट ओआरजी जैसी वेब साइट पर सर्च किया जा सकता है। समय-समय पर सार्वजनिक क्षेत्र में भी इससे संबंधित नौकरिया निकलती रहती हैं।

आप सभी से निवदेन है कि यदि यह पोस्ट आप को अच्छी लगे तो आप इसे  फेसबुक, वाट्सअप गुप तथा अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अधिक से अधिक शेयर करें ताकि ब्लाॅक का उद्देश्य पूर्ण हो सके।



इस ब्लाॅक की सफलता से प्रभावित होकर इस ब्लाॅग इस ब्लाॅग के चुनिंदा लेखकों को संग्रहित करके ‘सफल बनने की कला’ नामक पुस्तक की रचना की गयी है। पुस्तक में ब्लॉग में दिए गए मोटिवेशनल लेखों को शामिल किया गया है।   पुस्तक का मूल्य 120 रु निर्धारित किया गया है। सफल बनने की कला का उन सभी व्यक्तियों के लिए किया गया है, जो हर हालत में सफल होना चाहते है। पुस्तक ब्लाॅक के पाठकों को 30 प्रतिशत छूट के साथ उपलब्ध है।


पुस्तक खरीदने के इच्छुक पाठक कमेंट बाॅक्स में कमेंट करें। या ईमेल दिए गए पर सम्पर्क करें।
rk_k_computers@yahoo.com
rakeshcomputers@gmail.com


No comments:

Post a comment

स्वयं पोर्टल से घर बैठें करें निःशुल्क कोर्सेज

इंटरनेट के इस दौर में पारंपरिक शिक्षा अर्थात स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से हायर एजुकेशनल डिग्रीज हासिल करने के अलावा भी विद्यार्थी विभिन्...