कैसे बने आर्किटेक्ट (Architecture)

किसी भी भवन की योजना, डिजाइन और निर्माण करने वाले वाला व्यक्ति आर्किटेक्ट  होता है। आर्किटेक्ट द्वारा पहले किसी संरचना का प्लान तैयार किया जाता है, उसके वह उसका डिजाइन तैयार करता है उसके बाद उसका निर्माण कराया जाता है। इस दृष्टि से आर्किटेक्ट का कार्य रचनात्मक होने के साथ-साथ चुनौतीपूर्ण भी होता है। 

यदि आपको नए-नए डिजाइन बनाने का शौक है तो कैरियर के रूप के आर्किटेक्चर आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है।
आर्किटेक्ट बनने केलिए अनिवार्य है कि आपने भौतिक, रसायन विज्ञान और गणित सहित बारहवीं परीक्षा 50 प्रतिशत अंकों के सहित उत्तीर्ण की हो। इस क्षेत्र में जाने के इच्छुक व्यक्ति को आर्किटेक्चरल डिजाइन, कंस्ट्रक्शन विधियां, आर्ट एप्रिसिएशन, बिल्डिंग मैनेजमेंट, नेचर एंड एन्वायरन्मेंट और हिस्ट्री ऑफ आर्किटेक्चर जैसे उपविषयों वाला पांच साल का बी.आर्क. कोर्स करना होगा।

संबंधित कोर्स
वास्तुकला में स्नातक (Bachelor Of Architecture) (B-Arch)
वास्तुकला में परास्नातक (Master Of Architecture (M-Arch)

रोजगार संभावनाएं
इस क्षेत्र में मांग अधिक है परंतु उसके अनुसार पूर्ति नहीं है। इस दृष्टि क्षेत्र में प्रशिक्षित लोगों की काफी कमी है। इस दृष्टि से देखा जाए तो इस क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं है। यदि आप चाहते है तो स्वयं का रोजगार भी शुरू कर सकते हैं। 

संबंधित कोर्स कराने वाले संस्थान
स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर, नई दिल्ली, गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ आर्किटेक्चर (Architecture), लखनऊ
इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर, रुड़की विश्वविद्यालय, रुड़की, - मौलाना आजाद कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी, भोपाल, चंडीगढ़ कॉलेज ऑफ आर्किटेक्चर, चंडीगढ़, गोवा कॉलेज ऑफ आर्किटेक्चर, गोवा, मनिपाल इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मनिपाल, बिरला इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मिसरा, रांची, जामिया मिलिया इस्लामिया, जामिया नगर, नई दिल्ली,  सेंटर फॉर इन्वायरन्मेंटल प्लानिंग एंड टेक्नोलॉजी, अहमदाबाद इत्याद संस्थानों से आर्किटेक्चर (Architecture) से संबंधित कोर्स किए जा सकते है। 

No comments:

Post a comment

स्वयं पोर्टल से घर बैठें करें निःशुल्क कोर्सेज

इंटरनेट के इस दौर में पारंपरिक शिक्षा अर्थात स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से हायर एजुकेशनल डिग्रीज हासिल करने के अलावा भी विद्यार्थी विभिन्...