वीडियो एडिटिंग (Video Editing) में बनाए चमकता कैरियर

निरंत बढ़ते टीवी चैनलों और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के चलते आज वीडियो एडिटर की मांग बेहद तेजी से बढ़ रही है। जितनी तेजी से इस क्षेत्र में मांग आ रही है उतनी ही तेजी से इस क्षेत्र में युवाओं को अच्छे पैकेज के आॅफर भी आ रहे है।
इस पोस्ट में हम आपको वीडियो एडिटिंग से जुड़े कैयिर के विषय में जानकारी देंगे। आईऐ इसके लिए सबसे पहले जाने की वीडियो एडिटर कौन होता है और उसकी जाॅब रिस्पेंसिबिलिटी क्या होती है।
आप ने देखा होगा कि किसी मूवीज में लव अफेयर्स, फेमिली फाईट और एक्सेप्टेंस से लेकर सारे दृश्य एक के बाद सटीक समय में प्रस्तुत किए जाते है। प्रत्येक अभिनेता अपना कार्य बिल्कुल सही समय पर करता है। इन सारे सीनों को एक क्रम में प्रस्तुत करने का कार्य वीडियो एडिटर का होता है। कौन-से सीन को दिखाना है? किसे कटाना है? कैसे दिखाना है यह सभी कार्य वीडियो एडिटर द्वारा ही किए जाते है।
वीडियो एडिटिंग दो प्रकार की होती है है (1) लीनियर और (2) लीनियर नॉन। लीनियर में एक टेप से दूसरे टेप पर जरूरी हिस्सों को कॉपी किया जाता है तथा नॉन-लीनियर या डिजिटल एडिटिंग में कंप्यूटर टेक्नोलॉजी की मदद से ऑन-स्क्रीन एडिटिंग होती है। डिजिटल एडिटिंग अधिक सरल व लचीली होती है। 

वीडियो एडिटर से संबंधित कोर्स
बारहवीं पास या स्नातक युवाओं के लिए विभिन्न सरकार एवं निजी संस्थानों में वीडियों एडिटिंग से संबंधित कोर्स कराए जाते है। वैसे एफटीआईआई या फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा कराये जाने वाले वीडियो एडिटिंग कोर्स की बहुत अधिक डिमांड है। वीडियो एडिटिंग से संबंधित कोर्स कराने वाले प्रमुख संस्थान इस प्रकार  है।
सत्यजीत रे फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट, कोलकाता,
फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे,
एशियन एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन, नोएडा,
सेंटर फॉर रिसर्च इन आर्ट ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन, नई दिल्ली,
डिपार्टमेंट ऑफ फिल्म एंड टीवी स्टडीज, भारतीय विद्या भवन,
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया बैंगलोर, 
व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल मुंबई है।
सरस्वती संगीत कॉलेज, दिल्ली
आईआईएमसी, दिल्ली

संभावनाएं
टीवी या यू-ट्यूब चैनल, फिल्म प्रोडक्शन हाउस, मिडिया हाउस तथा टीवी एडवरटाइजिंग एजेंसी इत्यादि में वीडियो एडिटर की जरुरत होती है, इस दृष्टि से वीडियों एडिटर के लिए जाॅब मार्केट में नौकरियों की कमी नहीं है। इस कार्य को फ्रीलांसिग आधार पर भी किया जा सकता है।  

वेतन
कैरियर की शुरूआत में इस क्षेत्र में लगभग 10,000 रु से 15,000 रु  वेतन की अपेक्षा की जा सकती है। अनुभव एवं पारंगत बनने के बाद इस क्षेत्र में 40,000 रुपये से 75,000 रुपये तक का वेतन प्राप्त करने की संभावना रहते है।

कैसे ढूंढे नौकरी
इससे संबंधित कोर्स करने के बाद विभिन्न जाॅब साइट जैसे नौकरी डाट काम, इनडीड डाॅड काॅम तथा साइन डाट काॅम तथा टाइम्स जाब्स जैसे वेबसाइट से नौकरिया ढूंढी जा सकती हैं।



No comments:

Post a comment

स्वयं पोर्टल से घर बैठें करें निःशुल्क कोर्सेज

इंटरनेट के इस दौर में पारंपरिक शिक्षा अर्थात स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से हायर एजुकेशनल डिग्रीज हासिल करने के अलावा भी विद्यार्थी विभिन्...