कैसे बनाए अनुवादक (Translator) के रूप में कैरियर

किसी एक भाषा में कही गयी किस बात को अन्य भाषा में रूपांतर करने को अनुवाद कहते हैं। जैसे-जैसे विश्व वैश्विक गांव (Global village) के रूप में परिवर्तित होता जा रहा वैसे-वैसे ही परस्पर संचार के लिए अनुवादकों की मांग भी बढ़ती जा रही है। तकनीकी के प्रयोग के साथ-साथ मशीनी अनुवाद अर्थात कंप्यूटर द्वारा किए जाने वाले अनुवाद का चलन भ बढ़ा परंतु इसके इसके परिणाम शत प्रतिशत नहीं आए है और कंप्यूटर द्वारा किए गए अनुवाद को शुद्धीकरण के लिए मानवीय अनुवादकों ही आवश्यकता पड़ती है।


आप हिंदी-अंग्रेजी के अतिरिक्त किसी भी अन्य भाषा को सीख कर उसके अनुवादक बन सकते है। वैसे वर्तमान समय में चीनी भाषा के अनुवादकों की मांग भी काफी बढ़ रही है। अनुवादकों की मांग सरकारी व नीजि दोनों क्षेत्रों मे है। 

सार्वजनिक एवं प्रशासनिक क्षेत्र में आवश्यकता
सरकार के अधिकतर सभी भागों मे अनुवादकों की आवश्यकता पड़ती है। राजभाषा अधिनियम के अनुसार सभी दस्तावेज अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी होने चाहिए। इसी प्रकार क्षेत्रीय भाषाओं में भी राज्य की आवश्यकता के अनुसार अनुवाद करवाया जाता है। संसद तथा विधान सभाओं में इंटरप्रेटर एवं अनुवादकों का पद होता है। यह अनुवाद (Translate) संसद या विधानसभा में दिए जाने वाले भाषाण का अनुवाद करते हैं। आकाशवाणी और दूरदर्शन में भी अनुवादकों की आवश्यकता पड़ती है। न्यायालयों में भी न्यायिक दस्तावेजों के अनुवाद के लिए अनुवादक रखे जाते हैं।

नीजि क्षेत्रों में अनुवादकों की आवश्यकता
सार्वजनिक एवं प्रशासनिक क्षेत्र के अतिरिक्त नीजि क्षेत्रों में भी अनुवादकों की काफी मांग है। सभी न्यूज चैनलों एवं समाचार पत्र-पत्रिकाओं को अनुवादों की आवश्यकता पड़ती है। इसी प्रकार से विज्ञापन क्षेत्र भी अनुवादकों के बिना अधूरा है। विज्ञापनों के अनुवाद के लिए भी अनुवादकों की आवश्यकता पड़ती है। प्रकाशन गृह अर्थात पब्लिशिंग हाउसों में भी अनुवादकों की आवश्यकता पड़ती है। कोचिंग इंस्टीट्यूटों में भी अनुवादकों की आवश्यकता पड़ती है। आईटी कंपनियां भी वेबसाइट और मोबाइल ऐप के अनुवाद के लिए अनुवादकों को रखती है। फिल्मों की डबिंग में के लिए भी अनुवादकों की आवश्यकता पड़ती है। कुछ ऐसी एजेंसिया भी होती है है जो अनुवाद सेवा प्रदान करती है, वहां भी अनुवादकों की आवश्यकता पड़ती है। आप स्वतंत्र अनुवादक के रूप में भी घर बैठे कर कार्य कर सकते हैं।


कैसे पाए नौकरी 
सरकारी विभाग में अनुवाद की नौकरी कर्मचारी चयन आयोग द्वारा जूनियर हिंदी अनुवाद की परीक्षा आयोजित की जाती है, इसमें सफल होने के बाद ही आपका अनुवादक के रूप चयन किया जाता है। संसद और विधानसभाओं के लिए भी समय-समय पर अनुवादक पद के लिए रिक्तियां निकाली जाती है। इसके लिए आप इनकी वेबसाइट देख सकते है। सरकारी विभागों में अनुवादक की नौकरी के लिए आपके पास हिंदी या अग्रेजी मे मास्टर डिग्री के साथ अनुवाद में डिप्लोमा भी होना चाहिए।

निजी क्षेत्र में नौकरी के लिए आपको नौकरी, इनडीट, करिश्मा, साइन जैसी वेबसाइट पर नौकरियां खोज सकते हैं। स्वतंत्र रूप से काम करने पर इसमें प्रति शब्द अनुवाद के अनुसार मेहनताना दिया जाता है।


अनुवाद के लिए कोर्स  
भारतीय अनुवाद परिषद् दिल्ली  (भारत में कई शाखाएं)
भारतीय विद्या भवन, नई दिल्ली
दिल्ली विश्विद्यालय
नई दिल्ली सांध्यकालीन हिंदी संस्थान
उत्तरप्रदेश राजऋषि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) आदि

2 comments:

स्वयं पोर्टल से घर बैठें करें निःशुल्क कोर्सेज

इंटरनेट के इस दौर में पारंपरिक शिक्षा अर्थात स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से हायर एजुकेशनल डिग्रीज हासिल करने के अलावा भी विद्यार्थी विभिन्...