कैसे बने एचआर मैनेजर

किसी भी व्यापारिक या पेशेवर संस्थान के सुचारू रूप से कार्य संचालन के लिए एचआर डिपार्टमेंट की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होता है। कर्मियों के वेतन, कर्मचारियों की नियुक्ति, एम्पलॉयी रूल्स एंड रेगुलेशन्स, कंपनसेशन और लीव पॉलिसीएम्पलॉयी रूल्स एंड रेगुलेशन्स, लेबर एंड एम्प्लोयी रिलेशन्स, ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट जैसे कार्य इस विभाग के द्वारा ही किए जाते हैं। 

कौन-से कोर्स करें
बारहवी के तुरंत बाद डिप्लोमा कोर्स किया जा सकता है। डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1 वर्ष से डेढ वर्ष तक हो सकती हे। बारहवी के बाद एचआर में बीबीए या एचआरएम में बीए जैसे स्नातक स्तर के कोर्स किए जा सकते है। इन कोर्स की अवधि आमूमन 3 वर्ष होती है। इसके बाद इसमें एमबीए/एम.एच (एचआर) किए जा सकते हैं। प्रायः पोस्टग्रेजुएट कोर्स की अवधि 2 वर्ष होती है।

कहां से करें कोर्स
इसमें प्रवेश के लिए विभिन्न शैक्षिक संस्थानों द्वारा प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इस दृष्टि से आपको इससे संबंधित पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा देनी होगी। डिप्लोमा स्तर पर एचआरएम से संबंधित कोर्स में प्रवेश के लिए प्रत्येक राज्य में अलग-अलग प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इन परीक्षाओं का आयोजन उस राज्य के  पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट्स द्वारा किया जाता है। स्नातक स्तर पर इससे संबंधित कोर्स में एडमिशन लेने के लिए, आप डीयू (जेएटी), एनपीएटी, आईपीएमएटीएनपीएटी, एआईएमए (यूजीएटी), सिम्बायोसिस एंट्रेंस टेस्ट (एसईटी), जीजीएसआईपीयू सीईटी बीबीए जैसी प्रवेश परीक्षाएं दे सकते हैं।
पोस्टग्रेजुएट स्तर अर्थात एमबीए के लिए सीएटी (कॉमन एडमिशन टेस्ट), एक्सएटी (जेवियर एप्टीट्यूड टेस्ट), आईआईएफटी (इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ फॉरेन ट्रेड), एआईएमए-एमएटी (मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट), जीएमएसी (एनएमएटी), एसएनएपी (सिम्बायोसिस नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट), एमआईसीएटी (एमआईसीए एडमिशन टेस्ट), सीएमएटी (कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट), आईबीएसएटी (आईबीएस एप्टीट्यूड टेस्ट), एमबीए/एमएमएस सीईटी (महाराष्ट्र एमबीए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट) तथा इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (इग्नू) एंट्रेंस एग्जाम जैसी प्रवेश परीक्षा दी जा सकती हैं।

कितना कम सकते हैं
अगर सैलरी की बात की जाए तो इस क्षेत्र में सैलरी काफी अच्छी हैं और एंट्री लेवल पर भले ही कम मिलने पर अनुभव बढ़ने के बाद लाखों रु- मासिक सैलरी प्राप्त की जा सकती है।

अगर पोस्ट अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर जरुर शेयर करें 

No comments:

Post a comment

स्वयं पोर्टल से घर बैठें करें निःशुल्क कोर्सेज

इंटरनेट के इस दौर में पारंपरिक शिक्षा अर्थात स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से हायर एजुकेशनल डिग्रीज हासिल करने के अलावा भी विद्यार्थी विभिन्...