अनमोल सुक्तिकोश-12

अपनी शक्ति के अनुसार
-एमिल
कल न जाने हम कहीं हो अतः आज ही जिएं
-सेचलर
प्रतीक्षा करने से बेहतर खतरों से आधे रास्ते मे मिलना अच्छा है।
-डेकन
स्पष्ट और सबल उद्देश्य के अतिरिक्त सफलता का अन्य कोई उपाय नहीं है।
-टी.टी मंगर



जुर्म को तैयार समाज करता है, मुजरिम उसे अमल में लाता है।
-ऐलफिरी
चिंतन सरल है परंतु कार्य कठिन, विचारों के अनुसार कार्य करना संसार का सबसे कठिन काय है।
-गेटे
सर्वाधिक आनंद किसी अच्छे कार्य को गुप चुप करने मे और इत्तिफाक सेउसका पता चलने मे है।
-चाल्र्स लैब
किस फूलकी रचना तथा उसमें रंग भरने का काम केवल ईश्वर कर सकता है, लेकिन कोई भी मूर्ख बालक उसको टुकड़े-टुकड़े करके बिखेर सकता है।
-गिब्सन
वक्ता शब्दों से आग तब फूंकते है जब उसका पक्ष कमजोर होता है। उसी तरह आदमी घोड़े तब चढ़ता है जब वह चल नहीं पाता।
-सिसरो
जिन का मन हमसे मिलता है उनके अलावा हम बहुत थोड़े लोगों को समझकर जानते हैं।
-रोशे फूकोल
वक्ता शब्दों में आग तब फूंकते हैं जब उनका पथ कमजोर होता है। उसी तरह आदमी घोड़े पर तब चढ़ता जब वह चल नहीं सकता।
-सिसरो
खाली पेट कोई व्यक्ति बुद्धिमान नहीं हो सकता।
-जार्ज ईलियट
मनुष्य ईश्वर की सर्वोत्तम कृति है और कुत्ता न्यूनतम, किंतु बुद्धिमानों का कथन है कि उपकार मानने वाला कुत्ता कृतधन मनुष्य से कहीं अधिक अच्छा है।
-शेख आदि
भूखा व्यक्ति न समझदारी की बात सुनता है, न न्याय की चिंता करता है और ही प्रार्थना सुनता है।
-सेनिका
कल न जाने हम कहां हो अतः आज हीजिएं।
-सेचलर
प्रतीक्षा करने से बेहतर खतरों से आधे रास्ते में मिलना अच्छा है।
-बेकन
तुम्हारी नाजाईज कमाई का फायदा कोई भी उइा सकता है। किंतु! तुम्हारे नाजाईज कर्मों की का फल तो तुम्हें ही भुगतना पड़ेगा।
-गीतानंद भिक्षु
संसार में केवल दो शक्तियां है एक आत्मविश्वास और दूसरी तलवार अंततः तलवार पर आत्मविश्वास विजय पाता है।
-नेपेलियन
मैं कभी-कभी म्यान से तलवार निकलता हूँ। मैंने बुद्धि अपनी आँखो से जीते है हथियारों से नहीं।
-नेपालियन
जो आप हैवही आपका संसार है।
-जे. एलन

Comments

Popular posts from this blog

बिना हाथ पैर के जीवन में सफलता पाने वाला व्यक्ति- निकोलस वुजिसिक

लक्ष्य निर्धारण (Goal Set)

विकलांगता के बावजूद भी अपनी मंजिलों पर पहुँची मुनिबा मजारी